Breaking News

महिला का दावा- डॉल्फिन से बनाए थे संबंध, अलग होने पर जीव ने दे दी थी जान

यह घटना 1960 के दशक की शुरुआत की है जहां मार्गरेट होवे लोवेट नाम की युवा महिला डॉल्फ़िन के साथ संवाद करने के लिए नासा द्वारा वित्त पोषित परियोजना का हिस्सा बनी थी.

इंसानों का जानवरों से प्रेम होना स्वाभाविक है लेकिन क्या आपको पता है एक ऐसी भी महिला थी जिसका डॉल्फिन मछली के साथ यौन संबंध था. डेली मेल की एक रिपोर्ट के मुताबिक महिला से संबंध खत्म होने के बाद उस डॉल्फिन ने आत्महत्या कर ली थी.

यह घटना 1960 के दशक की शुरुआत की है जहां मार्गरेट होवे लोवेट नाम की युवा महिला डॉल्फ़िन के साथ संवाद करने के लिए नासा द्वारा वित्त पोषित परियोजना का हिस्सा बनी थी.
इस योजना को लेकर विचार यह था कि डॉल्फ़िन के पास कितना दिमाग है और वो मनुष्यों से कितना ज्यादा है इसका पता लगाया जाए. वैज्ञानिकों का मानना था कि बुद्धिमान प्रजातियां एक-दूसरे से कैसे “बात” करती हैं यह जानकर लोगों के साथ जानवरों के संवाद करने की तकनीक को विकसित कर सकते हैं.

इसी को लेकर 20 साल की मार्गरेट डॉल्फ़िन न्यूरोसाइंटिस्ट जॉन लिली के साथ काम करने के लिए आकर्षक परियोजना में शामिल हो गई और उसे सेंट थॉमस के कैरिबियाई द्वीप पर रखा गया.

मार्गरेट ने बताया कि वहां तीन डॉल्फ़िन थी जिनका नाम पीटर, पामेला और सिसी था. उसमें पामेला सबसे बड़ी थी. मार्गरेट के मुताबिक पामेला बहुत शर्मिली और डरपोक थी वहीं पीटर एक युवा और थोड़ा शरारती था.”

पीटर और मार्गरेट के बीच एक अनोखा बंधन विकसित हो गया. यही वजह है कि जब मार्गरेट अन्य डॉल्फ़िन के साथ अधिक समय बिताती है तो उसे जलन होती थी क्योंकि उसे मार्गरेट से प्रेम हो गया था. दोनों के रिश्ते में इतनी गहराई आ गई थी कि उनका संबंध भी बन गया.

मार्गरेट ने बताया था, पीटर ” मेरी शरीर रचना में बहुत रुचि रखता था, अगर मैं वहां बैठी होती और मेरे पैर पानी में होते, तो वह ऊपर आता और मेरी पीठ को देखता था. वह जानना चाहता था कि मनुष्य का शरीर कैसे काम करता है. मैं इससे बहुत प्रभावित हुई. ”

हसलर पत्रिका में प्रकाशित एक लेख के अनुसार, मार्गरेट पीटर के बहुत अधिक यौन उत्तेजित होने पर उसे यौन राहत देती थी. पीटर का दिल उस वक्त टूट गया जब परियोजना खत्म होने के बाद मार्गरेट उससे अलग हो गई. इसके बाद उसने आत्महत्या कर ली.

About Next News

Check Also

इंद्रधनुषी झंडे में किस रंग का क्या मतलब है? 8 रंगों के झंडे में से हट चुके हैं 2 रंग

6 सितंबर 2018 को भारत में ऐतिहासिक फैसला सुनाया गया. इस दिन LGBT समूह को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *