Breaking News

जॉन राव है जॉनी लीवर का असली नाम, कभी सड़कों पर पेन बेचकर करते थे गुजारा, इस तरह जॉन से जॉनी लीवर बने थे कॉमेडियन

आज हमारे बीच हिंदी फिल्म जगत के कई ऐसे सितारे मौजूद हैं जिन्होंने आज अपनी मेहनत और काबिलियत के दम पर एक्टिंग इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनाई है| और इन्होंने असल जिंदगी में भी यह साबित कर दिया है कि सच्ची लगन के साथ की गई मेहनत कभी बेकार नहीं जाती है| ऐसे में अपनी आज की इस पोस्ट में हम आपको बॉलीवुड के एक ऐसे ही अभिनेता की असल जिंदगी की स्टोरी बताने जा रहे हैं जिन्होंने अपनी काबिलियत से लाखों दिलों में अपनी एक अहम पहचान बनाई है|

यह अभिनेता कोई और नहीं बल्कि बॉलीवुड के फेमस कॉमेडियन और एक्टर जॉनी लीवर है जिन्होंने बॉलीवुड इंडस्ट्री में कई एक से बढ़कर एक फिल्में की हैं और अपने बेहतरीन अभिनय और टाइमिंग से हर बार लोगों की उम्मीदों पर खरे उतरे हैं| ऐसे में हम आज आपको इनकी असल जिंदगी से जुड़े कुछ दिलचस्प किस्सों से रूबरू कराने जा रहे हैं…

पहले जॉन राव हुआ करते थे अभिनेता अगर जॉनी लीवर के शुरुआती दिनों की बात करें तो फिल्म इंडस्ट्री के ये मशहूर कॉमेडियन एक्टिंग इंडस्ट्री का हिस्सा बनने से पहले जॉन राव हुआ करते थे| लेकिन बाद में कुछ ऐसा हुआ जिसके बाद जॉन राव लोगों के बीच जॉनी लीवर के नाम से जाने जाने लगे और फिर इसी नाम से इन्हें पूरी फिल्म इंडस्ट्री भी जानने लगी|

बचपन से एक्टर्स की मिमिक्री बात करें अगर जॉनी लीवर के बचपन के दिनों की तो काफी कम उम्र से ही यह फिल्मों के काफी शौकीन थे और फिल्मों को देखने के बाद अभिनेताओं की मिमिक्री करने की कोशिश भी किया करते थे| और खास बात यह थी के काफी कम उम्र से ही ये अभिनेताओं की काफी बेहतरीन मिमिक्री कर लेते थे|

इस वजह से धीरे-धीरे आसपास के लोगों के बीच जॉनी लीवर धीरे-धीरे पॉपुलर होने लगे और अक्सर उन्हें लोग मिमिक्री परफॉर्म करने के लिए भी कहने लगे| लोगों को उनकी मिमिक्री धीरे-धीरे पसंद आने लगी थी और ऐसा करते हुए वह उनका अच्छा मनोरंजन भी कर देते थे|

ऐसे पड़ा लीवर नाम जॉनी लीवर के नाम की स्टोरी उनके पिता से जुड़ी हुई है| दरअसल उन दिनों जॉनी लीवर के पिता ‘हिंदुस्तान लीवर’ कंपनी में काम किया करते थे जो आज देश की सर्वोच्च कंपनियों में शामिल है| और ऐसे में कभी-कभी जब कंपनी में कोई इवेंट या कार्यक्रम रखा जाता था तो वहां पर जॉन राव को मिमिक्री के लिए भी लोग बुलाते थे|

कुछ वक्त तक ऐसा ही चलता रहा और जॉन राव को लोग धीरे धीरे उनके हंसाने और मिमिक्री की कला से काफी पसंद करने लगे और इसी के साथ लोगों ने मिलकर उन्हें कंपनी के नाम से मिलता हुआ ‘जॉनी लीवर’ नाम दे दिया|

सड़कों पर बेचते थे पेन आज बॉलीवुड के इतने फेमस कॉमेडियन और एक्टर बन चुके जॉनी लीवर एक समय में मुंबई की सड़कों पर पेन बेचकर अपना गुजारा करते थे| और उन दिनों वो एक चौल में रूम शेयर करके रहते थे| आज भी जॉनी लीवर उस चौल से काफी लगाव रखते हैं जिस वजह से कई बार उन्हें अपने उस चौल में देखा जाता है|

About admin

Check Also

शाहरुख खान ने गौरी खान से बोला था ये बड़ा झूठ, हनीमून पर पेरिस बताकर ले गए थे दार्जलिंग!

शाहरुख खान और गौरी की शादी अक्टूबर 1991 में हुई थी. शादी के बाद भी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *