Breaking News

ना खुद खाया-ना बच्चों ने, यूं रची पत्नी-साली-सास-ससुर को जहर देकर मारने की साजिश

इराक के तानाशाह सद्दाम हुसैन के बारे में इंटरनेट पर पढ़कर एक शख्स ने अपने सास-ससुर, पत्नी और साली को खत्म करने की खतरनाक साजिश की थी. सद्दाम हुसैन थैलियम नाम का एक जहरीला पदार्थ अपने दुश्मनों के लिए करता था. इसी आइडिए का इस्तेमाल कर दिल्ली के कारोबारी वरुण ने अपनी पत्नी के परिवार को खत्म करने की कोशिश की हालांकि उसे पुलिस ने अरेस्ट कर लिया है.

होमियपैथी दवाओं के निर्माता देवेंद्र मोहन शर्मा ने पुलिस को बताया कि वो इंद्रपुरी में रहते हैं और उनकी फैक्ट्री भी दिल्ली में है. थैलियम के चलते उनकी बेटी प्रियंका शर्मा और उनकी पत्नी अनीता शर्मा की मौत हो चुकी है वही उनकी बड़ी बेटी दिव्या गंगा राम अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रही है.

शर्मा ने बताया कि साल 2009 में दिव्या और वरुण की शादी हुई थी. उनका दामाद गुस्सैल स्वभाव का था और शादी के कुछ महीनों बाद से ही दिव्या के साथ गाली-गलौच और बुरा व्यवहार करने लगा था. हालांकि वो इसके बावजूद बेटी का घर बसाने के लिए लगातार प्रयत्न करते रहते थे. दिव्या ने आईवीएफ तकनीक के सहारे जुड़वां बच्चों को जन्म दिया था. हालांकि वो इसके बाद भी प्रेग्नेंट हो गई थी. दिव्या की फैमिली इस बच्चे को चाहती थी लेकिन डॉक्टर्स ने कहा था कि इससे दिव्या की जान को खतरा हो सकता है.

शर्मा ने पुलिस को बताया कि डॉक्टर्स की बात मानते हुए दिव्या ने एबॉर्शन करा लिया था. इसके बाद से ही वरुण और उसका परिवार दिव्या को काफी प्रताड़ित करने लगे थे. 31 जनवरी को दिव्या अपने पेरेंट्स के घर इंद्रपुरी आई थी. वरुण ने दिव्या को फोन किया कि वो दिव्या की पूरी फैमिली के लिए फिश बनाकर ला रहा है. दिव्या के मना करने के बावजूद वरुण दोपहर में फिश लेकर घर पहुंच गया था.

शर्मा ने आगे कहा कि वरुण ने दिव्या, मेरी पत्नी और मुझे वो फिश जबरदस्ती खिलाई. मेरी छोटी बेटी प्रियंका घर पर नहीं थी तो उसने शाम को उसके घर लौटने पर उसे फिश खिलाई. इसके बाद 1 फरवरी को प्रियंका की तबीयत खराब होने लगी थी और अस्पताल में एडमिट कराने के बावजूद 15 फरवरी तक उसकी मौत हो गई थी. इसके अलावा मेरी पत्नी की सेहत भी लगातार बिगड़ रही थी.

शर्मा ने कहा कि मेरी बड़ी बेटी के भी 15 फरवरी से बाल झड़ने शुरू हो गए थे. वरूण ने दो दिनों बाद मेरी बेटी के बालों को काट भी दिया था. उसकी हालात लगातार बिगड़ रही थी और वो गंगा राम अस्पताल के आईसीयू में जिंदगी और मौत से जूझ रही है. मेरी पत्नी और बेटी दिव्या के ब्लड टेस्ट में थैलियम पाया गया था. इसके अलावा मेरी पत्नी की भी इलाज के दौरान 21 मार्च को मौत हो गई थी.

शर्मा ने कहा कि मुझे पूरा यकीन है कि वरुण ने फिश में थैलियम मिलाकर मेरे पूरे परिवार को दिया था. उसने खुद जबड़े में दर्द होने का बहाना बनाकर फिश को नहीं खाया था. इसके अलावा वरूण-दिव्या के बच्चों को भी ये फिश नहीं दी गई थी. मेरे ब्लड टेस्ट में भी थैलियम की मात्रा सामने आई है.

About Next News

Check Also

Health News: यकीन मानिए इन पांच फूड को डाइट में शामिल करेंगे तो तेजी से बढ़ेगी स्टेमिना

Tips to improve stamina: समय के साथ लोगों की स्टेमिना में कमी आना स्वभाविक है. …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *