Breaking News

कोरोना मरीज के लिए घातक हो सकती है दिल्ली की हवा, 20% बढ़े सांस की परेशानी वाले मरीज

नई दिल्ली. दिवाली (Diwali) और पराली जलाने (Stubble Burning) के मामलों के बाद दिल्ली और आसपास के इलाकों की हवा खासी प्रभावित हुई है. लगातार गिर रही हवा की गुणवत्ता का असर लोगों के स्वास्थ्य पर दिखने लगा है. राजधानी के डॉक्टर्स ने पाया है कि सांस संबंधी परेशानियों (Respiratory Problems) के मरीजों में 20 फीसदी का उछाल आया है. इसके अलावा जानकारों का यह भी कहना है कि AQI का मौजूदा स्तर उन मरीजों पर भी गंभीर असर डाल सकता है, जो हाल ही में कोविड-19 (Covid-19) से उबरे हैं.

हिंदुस्तान टाइम्स से बातचीत में बीएलके-मैक्स अस्पताल में रेस्पिरेटरी मेडिसिन विभाग के प्रमुख डॉक्टर संदीप नायर ने बताया, ‘फेफड़े से जुड़ी परेशानियों का सामना कर रहे मरीजों में 20 फीसदी बढ़त हुई है. ये मरीज बदलते मौसम के कारण बीते 15-20 दिनों में गंभीर लक्षणों का सामना कर रहे हैं.’ उन्होंने कहा कि दिवाली के बाद प्रदूषण का स्तर बढ़ गया है और अब यह पराली जलाने से हो, गाड़ी के धुएं से हो या पटाखे जलाने से हो, हमने बीते कुछ दिनों में मरीजों की संख्या में अतिरिक्त 10 फीसदी का इजाफा देखा है.

About Next News

Check Also

इंद्रधनुषी झंडे में किस रंग का क्या मतलब है? 8 रंगों के झंडे में से हट चुके हैं 2 रंग

6 सितंबर 2018 को भारत में ऐतिहासिक फैसला सुनाया गया. इस दिन LGBT समूह को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *