Breaking News

गहनों से लदी थी साक्षी, अपनी शादी में धोनी ने इन लोगो को नहीं भेजा था निमंत्रण

महेंद्र सिंह धोनी सिर्फ एक नाम ही नहीं, बल्कि इंडियन क्रिकेट का पुनर्जन्म कराने वाले एक ऐसे क्रिकेटर हैं,जिन्होंने पूरी दुनिया में पॉपुलैरिटी हासिल की.एमएस धोनी ने इंडियन क्रिकेट का कद काफी ऊंचा कर दिया है.उनका नाम हमेशा गर्व और इज्जत के साथ लिया जाता है.कैप्टन कूल’ कहे जाने वाले महेंद्र सिर्फ एक लेजेंड्री क्रिकेटर ही नहीं, बल्कि एक समर्पित फैमिली मैन भी हैं.उनकी ब्यूटीफुल वाइफ साक्षी धोनी और उनकी एडोरेबल लिटिल बच्ची जीवा को भी धोनी के फैंस खूब प्यार देते हैं. एमएस धोनी की तरह उनकी लव स्टोरी भी काफी मैजिकल और आईकॉनिक है.

आप सभी ने एमएस धोनी और साक्षी की लव स्टोरी उनकी बायोपिक फिल्म ‘एमएस धोनी: द अनटोल्ड स्टोरी’ में सुनी होगी, लेकिन इसके अलावा दोनों की प्रेम कहानी में कुछ छुपे हुए फैक्ट्स भी हैं,जिनसे शायद आप अभी भी अनजान हैं.तो आइए आज हम आपको उस व्यक्ति की लव स्टोरी की पूरी डीटेल बताते हैं, जिन्होंने पूरे इंडियन क्रिकेट का चेहरा बदल कर रख दिया. साक्षी और धोनी एक-दूसरे को बचपन से जानते थे,क्योंकि उन दोनों के पिता रांची की ‘MECON’ नामक कंपनी में एक साथ काम करते थे.दोनों के परिवारों का आपस में अच्छा रिश्ता था.धोनी व साक्षी ने शुरुआत में एक ही स्कूल से पढ़ाई भी की है.लेकिन कुछ समय बाद साक्षी की फैमिली देहरादून में शिफ्ट हो गई थी और फिर उसके बाद दोनों का संपर्क ख़त्म हो गया था.हालांकि,किस्मत को कुछ और ही मंजूर था.

असम के तिनसुकिया जिले के लेखपानी टाउन में जन्मी साक्षी धोनी ने अपनी प्राइमरी एजुकेशन देहरादून के वेल्हम गर्ल्स कॉलेज से की है और अपनी स्कूलिंग रांची के जवाहर विद्या मंदिर से कंप्लीट की है.क्या आपको पता है बॉलीवुड एक्ट्रेस अनुष्का शर्मा भी साक्षी की वेल्हम गर्ल्स स्कूल में क्लासमेट थीं? साक्षी के पास औरंगाबाद में स्थित इंस्टीट्यूट ऑफ़ होटल मैनेजमेंट से होटल मैनेजमेंट की डिग्री भी है.

एमएस धोनी और साक्षी 10 साल बाद कोलकाता में मिले थे.ये उस दौरान की बात है,जब साल 2007 में टीम इंडिया का कोलकाता के होटल ताज बंगाल में स्टे था.उस दौरान भारत ईडेन गार्डन स्टेडियम में पाकिस्तान के खिलाफ खेल रहा था.शादी से पहले, साक्षी धोनी महाराष्ट्र में होटल मैनेजमेंट की स्टूडेंट थीं.वो टीम इंडिया के स्टे के दौरान ताज बंगाल में इंटर्नशिप कर रही थीं.इंटर्नशिप के आखिरी दिन एमएस धोनी के मैनेजर युद्धजीत दत्ता ने उन्हें साक्षी से मिलवाया था.साक्षी, युद्धजीत की दोस्त थीं.इसी दौरान एमएस धोनी उनकी खूबसूरती पर फ़िदा हो गए थे और दत्ता से साक्षी का नंबर मांगकर उन्हें मैसेज किया था.

इस स्टोरी का एक दूसरा वर्जन भी है, जो काफी लोगों को नहीं पता है.इसके मुताबिक, साक्षी को पता था कि धोनी होटल में स्टे कर रहे थे.किसी भी निष्कर्ष पर जाने से पहले आपको बता दें कि,साक्षी क्रिकेटर को उनके नाम या चेहरे से नहीं जानती थीं. उनकी मां ने उन्हें बताया था कि, इंडियन क्रिकेट टीम में एक पहाड़ी लड़का है, जो उस होटल में स्टे कर रहा है। चूंकि साक्षी भी पहाड़ी थीं, इसलिए वो धोनी से मिलने के लिए काफी एक्साइटेड थीं.

साक्षी का नंबर हासिल करने के बाद जब धोनी ने उन्हें कई बार मैसेज किया,तो उन्हें लगा कि उनके साथ धोनी के नाम से कोई मजाक कर रहा है.इस बात को समझने में उन्हें काफी समय लगा कि,वो मैसेज इंडियन टीम के कैप्टेन के ही थे.धोनी के लिए साक्षी का दिल जीतना कोई आसान काम नहीं था.आप में से काफी लोगों को शायद यकीन नहीं होगा कि,फील्ड की पिच पर जो बैट्समैन बॉलर के छक्के छुड़ा देता था, वो प्यार की पिच पर इतना सक्सेसफुल नहीं था.एमएस को अक्सर उनके दोस्त ‘होपलेस रोमांटिक’ के नाम से चिढ़ाते थे.

धोनी ने 2 महीने साक्षी से मुलाकातों और बातों के बाद मार्च 2008 से उन्हें डेट करना शुरू कर दिया था.साक्षी ने उस साल धोनी की बर्थडे पार्टी भी अटेंड की थी.लेकिन पार्टी में धोनी साक्षी को ज्यादा समय नहीं दे पाए थे, इसलिए उन्होंने अपने दोस्तों से एक घंटे का ऑफ लेते हुए साक्षी को पर्सनली उनके रिश्तेदार के घर ड्रॉप किया था.धोनी और साक्षी का अफेयर इतना परफेक्ट तरीके से सीक्रेट रखा गया था कि,दुनिया को कपल की शादी के दिन साक्षी के धोनी की लाइफ में मौजूदगी का पता चला.दोनों की शादी इस तरीके से प्लान की गई थी कि, किसी को इसकी तैयारियों के बारे में पता नहीं चल पाया था.यहां तक मीडिया को भी इस ग्रैंड वेडिंग के बारे में भनक नहीं थी.

साक्षी ने अपनी शादी के लिए रेड और ग्रीन कलर का सब्यसाची लहंगा चुना था,जिसको उन्होंने ग्रीन कलर की चोली के साथ पेयर किया था.साक्षी के डबल दुपट्टे में एक दुपट्टे को उनके कंधे पर लपेटा गया था और हैवी वाला दुपट्टा उन्होंने अपने सिर पर डाला था.साक्षी ने अपना ब्राइडल लुक हैवी नेकपीस, एक मांग टीका, नथ और लाल चूड़ियों से कंप्लीट किया था.उस शादी में उन्होंने अपने गिने-चुने लोगों को ही आमंत्रित किया था. लाइमलाइट से दूर रहने वाले महेंद्र सिंह धोनी को ज्यादा चकाचौंध पसंद नहीं है. इसलिए उन्होंने अपनी शादी को भी मीडिया और चटपटेदार खबर दिखाने वालों से दूर रखा था. इस शादी में परिवार के सदस्य कुछ रिश्तेदार और करीबी मित्रों के अलावा किसी को भी आमंत्रण नहीं था.

दोनों की सगाई देहरादून के होटल कॉम्पीटेंट में 3 जुलाई 2010 को हुई थी.और दोनों की शादी इसके अगले दिन 4 जुलाई को देहरादून के पास विश्रांति रिजॉर्ट में हुई थी.इस शादी में बॉलीवुड एक्टर जॉन अब्राहम,डायरेक्टर फराह खान,धोनी के टीममेट्स सुरेश रैना,आरपी सिंह,हरभजन सिंह,आशीष नेहरा व इंडियन पॉलिटिशियन शरद पवार, वसुंधरा राजे शामिल हुए थे.इसे चाहे ‘लेडी लक’ कहे या संयोग, लेकिन एमएस धोनी की जिंदगी में साक्षी की एंट्री होने के बाद क्रिकेटर सक्सेस की सीढ़ियों पर चढ़ते चले गए.ऐसा माना जाता है कि,साक्षी से शादी के बाद धोनी की बतौर प्लेयर परफॉर्मेंस बेहतर होती चली गई.साक्षी को स्टैंड्स से अपने पति को स्टेडियम में चीयर करना काफी अच्छा लगता है, लेकिन वो मीडिया से दूर रहना पसंद करती हैं.हालांकि, वो एक सोशल मीडिया सेंसेशन हैं, जिन्हें अपने अच्छे नेचर और अमेजिंग फैशन सेंस के लिए जाना जाता है.

एमएस धोनी ने एक बार कहा था कि, जब तक वो अपनी जिंदगी एक प्लेयर की तरह जिएंगे,तब तक साक्षी उनकी जिंदगी में तीसरे स्थान पर रहेंगी.उन्होंने कहा था,“मैं अपने देश से प्यार करता हूं.मैं अपनी वाइफ से कहता हूं कि,वो मेरे देश और पेरेंट्स के बाद मेरी जिंदगी की तीसरी सबसे इम्पोर्टेंट चीज हैं.पॉइंट ये है कि,मेरे एक इंडियन क्रिकेटर रहते हुए मुझे खुद को देश के लिए समर्पित करना जरूरी है.क्रिकेट सब कुछ नहीं है, लेकिन ये जो मैं हूं उसका एक बड़ा हिस्सा है.

साक्षी के अपनी जिंदगी पर पड़े प्रभाव के बारे में बात करते हुए एमएस धोनी ने कहा था,साक्षी मुझे वो चिंगारी देती हैं,जो मुझे कभी-कभी चाहिए होती है.वो प्यार करने वाली और प्रेरणादायक दोनों हैं.एक दिन हम लोग एक साथ सुंदर जगहें देखेंगे और वो कहती हैं कि,क्या तब मैं अपनी प्रायोरिटी लिस्ट में उन्हें दूसरे नंबर पर ला सकता हूं। लेकिन अभी मैं यहां क्रिकेट खेलने के लिए हूं.मुझे देश के लिए खेलने का गौरव मिला है, तो मैं उसे अभी देखना चाहता हूं.

एमएस धोनी 6 फरवरी 2015 को कैप्टेन कूल से डैडी कूल बन गए थे.इस दौरान वो ऑस्ट्रेलिया में ODI वर्ल्ड कप खेलते हुए अपनी नेशनल ड्यूटी निभा रहे थे.धोनी ने उस दौरान भी अपने पिता की ड्यूटी के ऊपर अपनी कप्तान की ड्यूटी रखी थी, जिसके लिए वो हमेशा याद किए जाएंगे.माही के क्लोज फ्रेंड सुरेश रैना ने क्रिकेटर को उनके पिता बनने की न्यूज दी थी.कपल ने अपनी प्रिंसेस का नाम ‘जीवा’ रखा है, जो मूल रूप से एक हिब्रू नाम है और इसका मतलब ‘चमक’, ‘तेज’, ‘प्रकाश’ और ‘भगवान का प्रकाश’ होता है.

About Next News

Check Also

जाह्नवी कपूर और मेकअप आर्टिस्ट के बीच हुई जमकर फाइट! अर्जुन कपूर दिया ऐसा रिएक्शन

बोनी कपूर (Boney Kapoor) और दिवंगत श्रीदेवी (Sridevi) की बड़ी बेटी एक्ट्रेस जाह्नवी कपूर (Janhvi …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *