Breaking News

जब शाहरुख़ खान को अपनी लविंग वाइफ गौरी को हमेशा के लिए खो देने का डर सताने लगा था, जिसकी वजह बने थे उनके लाडले आर्यन खान

बॉलीवुड के किंग खान कहे जाने वाले शाहरुख खान और गौरी खान की जोड़ी हमारी बॉलीवुड की सबसे पॉपुलर और सबसे रोमांटिक जोड़ियों में से एक है और इन दोनों की लव स्टोरी बेहद ही दिलचस्प है जिसके बारे में पूरी दुनिया जानती है| शाहरुख खान और गौरी खान की शादी को 29 साल हो पूरे हो चुके हैं और आज भी इन दोनों के बीच कमाल की बॉन्डिंग और शानदार केमिस्ट्री देखने को मिलती है और यह दोनों ही एक दूसरे के लिए परफेक्ट जीवन साथी साबित हुए हैं |

गौरी खान और शाहरुख खान 3 बच्चों के माता-पिता है जिनमें से इन के बड़े बेटे का नाम आर्यन खान है, बेटी का नाम सुहाना खान है और सबसे छोटे बेटे का नाम अबराम खान है और किंग खान के तीनों ही बच्चे बॉलीवुड के सबसे पॉपुलर स्टार किड है और यह अक्सर ही मीडिया और लाइमलाइट में बने रहते हैं| जैसा कि हम सभी जानते हैं किंग खान अपनी पत्नी गौरी खान से बेहद प्यार करते हैं लेकिन शाहरुख खान की लाइफ में एक समय ऐसा भी आया था जब उन्हें ऐसा लगा था कि वह अपनी पत्नी गौरी को हमेशा हमेशा के लिए खो देंगे और इस वजह से शाहरुख खान बहुत ज्यादा डर भी गए थे|

दरअसल शाहरुख खान को हॉस्पिटल से बहुत डर लगता है और इसके पीछे शाहरुख खान का अतीत रहा है क्योंकि शाहरुख खान जब महज 15 साल के थे तभी उन्होंने अपने पिता को खो दिया था और इसके बाद 26 साल की उम्र में शाहरुख खान की मां दुनिया को अलविदा कह गई और उनके माता-पिता दोनों ने हॉस्पिटल में ही दम तोड़ा था और इस गम को शाहरुख खान आज तक भुला नहीं पाए हैं और यही वजह है कि शाहरुख खान हॉस्पिटल से सबसे ज्यादा डरते हैं और ऐसे में जब शाहरुख खान की पत्नी गौरी खान अपनी बेटी आर्यन खान को जन्म देने वाली थी तब वह हॉस्पिटल में एडमिट थी उस वक्त शाहरुख खान का डर के मारे हाथ पैर फूलने लगे थे|

बता दे शाहरुख खान ने अपने एक इंटरव्यू के दौरान अपने इस दर्द का जिक्र करते हुए बताया था कि गौरी खान जब पहली बार प्रेग्नेंट हुई और वो आर्यन खान को जन्म देने वाली थी तब वो अस्पताल में एडमिट थी और जब गौरी खान प्रसव पीड़ा से गुजर रही थी तब उनकी हालत देखकर वो बहुत ज्यादा डर गए थे क्योंकि शाहरुख खान ने कभी भी गोरी कोई बीमार होते या हॉस्पिटल में एडमिट होते हुए अपनी आंखों से नहीं देखा था और वही प्रसव पीड़ा के दौरान गौरी खान का शरीर ठंडा पड़ते देख शाहरुख खान के मन में एक पल के लिए गौरी को खोने का डर आ गया था |

उस वक्त शाहरुख खान को अपने अजन्मे बच्चे की भी चिंता नहीं थी वह सिर्फ यह चाहते थे कि गौरी खान जल्दी से होश में आ जाएं और फिर से सेहतमंद हो जाए क्योंकि वह गौरी खान को किसी भी कीमत पर खोना नहीं चाहते थे और उन्होंने आगे कहा कि मैं यह अच्छे से जानता हूं कि बच्चे को जन्म देते समय हर मां इस दर्द से गुजरती है और बच्चे को जन्म देने से मां की जान पर खतरा ज्यादा नहीं होता लेकिन फिर भी गौरी की ऐसी हालत देखकर पुरानी यादों ने मेरे अंदर का डर एक बार फिर से जिंदा कर दिया था हालांकि आर्यन खान के जन्म के बाद गौरी खान और आर्यन दोनों ही स्वस्थ थे |

बता दे 13 नवंबर साल 1997 में शाहरुख खान और गौरी खान आर्यन खान के माता-पिता बने और फिर साल 2000 में गौरी खान ने बेटी सुहाना को जन्म दिया और अपनी तीसरी संतान के लिए इस दंपत्ति ने सरोगेसी का विकल्प चुना और साल 2013 में शाहरुख खान और गौरी खान अपने सबसे छोटे बेटे अबराम खान का अपने परिवार में स्वागत किया और आज यह कपल 3 बच्चों के माता-पिता बन चुके हैं और अपने परिवार के साथ बेहद खुशी से अपनी जिंदगी बिता रहे हैं|

About admin

Check Also

अभिनेता चंकी पांडे के कर्जदार है शाहरुख़ खान, इन दोनों रिश्ता सलमान खान से भी बढ़कर है

इस दुनिया में बहुत से लोग ऐसे है जो जरूरत के समय मदद लेकर बाद …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *