Breaking News

गर्भवती होने के बाद भी दर्द में दी UPSC परीक्षा, टीचर से बनी सीधा कमिश्नर

भारत में यूपीएससी की परीक्षा सबसे उच्च दर्जे की परीक्षा मानी जाती है। यूपीएससी की तैयारी करने वाले उम्मीदवार दिन रात एक कर के मेहनत करते हैं इसके बावजूद भी जरूरी नहीं है कि सफलता हासिल हो। कुछ लोग सालों तक यूपीएससी की तैयारी करते हैं इसके बावजूद भी सिलेक्शन नहीं होने पर मानसिक तनाव में आ जाते हैं वहीं कुछ होनहार उम्मीदवार पहले प्रयास में ही सफल हो जाते हैं।

हरियाणा की पूनम दलाल ने पेश की मिसाल

आज आपको एक ऐसी महिला के बारे में बताते हैं जिसने ऐसी परिस्थितियों में यूपीएससी की परीक्षा दी जिसे सुनकर ही लोग उन्हें मिसाल मानने लगे हैं। हम बात कर रहे हैं हरियाणा के झज्जर जिले की रहने वाली पूनम दलाल के बारे में, जिन्होंने यूपीएससी पास करने के लिए किसी भी रुकावट को बीच में नहीं आने दिया।

गर्भवती होते हुए भी दिया यूपीएससी का एग्जाम

आज के समय पूनम दलाल उन हजारों महिलाओं के लिए एक मिसाल बन चुकी है जो कठिन परिस्थितियों के चलते अपने हौसले खो देते हैं। आपको बता दें कि पूनम दलाल का सपना सिविल सर्विसेज के तहत देश की सेवा करना था इसके लिए उन्होंने काफी मेहनत की। जब पूनम ने यूपीएससी की परीक्षा दी तो वह नौवें महीने की गर्भवती थी। इसके बावजूद भी उन्होंने परीक्षा देने का फैसला किया और सफलता हासिल की।

उम्र अधिक होने के कारण 2011 में नहीं हुआ था सिलेक्शन

आपको बता दें कि पूनम दलाल 2011 जब यूपीएससी का एग्जाम देने का फैसला किया तो उस समय 30 वर्ष से अधिक उम्र के विद्यार्थी परीक्षा नहीं दे सकते थे और पूनम की उम्र 30 वर्ष हो चुकी थी। लेकिन इसके बाद किस्मत ने उनका काफी साथ दिया और 2015 में यूपीएससी ने फैसला किया कि जिन विद्यार्थियों ने 2011 में परीक्षा दी थी वो विद्यार्थी एक बार फिर से परीक्षा दे सकते हैं।

2015 में आईआरएस में हुआ सिलेक्शन

2015 में जब यूपीएससी ने एक बार फिर से 2011 के उम्मीदवारों को परीक्षा देने का ऐलान किया तो पूनम की खुशी का ठिकाना नहीं रहा और उन्होंने पूरी तैयारी के साथ यह परीक्षा देने की ठान ली। इस बार उन्होंने पूरी मेहनत के साथ परीक्षा दी और उनका यूपीएससी का एग्जाम क्लियर हो गया।

जब यूपीएससी का प्रीलिम्स देने के लिए पूनम पहुंची तो वह नौवें महीने की गर्भवती थी। लेकिन इसके बावजूद भी दर्द में उन्होंने यह परीक्षा पास की। जब यूपीएससी मैंस का एग्जाम हुआ तब उसके ढाई महीने का बच्चा था। इस बार वह आईआरएस अधिकारी बनी और इनकम टैक्स में कमिश्नर के पद पर कार्यरत है।

About admin

Check Also

बचपन में घर की आर्थिक स्थिति ठीक नही थी तो मछली बेचना शुरू करा, आज 40 लाख सालाना कमाई

बोला जाता है कि प्रत्येक व्यक्ति के जीवन मे एक दिन ऐसा जरूर आता हैं …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *